Recent Post

You are not an expert, i am not, too

There is no shortcut to success, mastery or knowledge. This is the most important and priceless teaching we should give to our younger gener...

छाया मेरे अतीत की 08/05/2009

Saturday, March 26, 2016

तू छाया मेरे अतीत की
सपनों में यूँ भरमाती है,
रात अँधेरी होने पर
तन-मन से लिपट जाती है।

मैं तेरे देह के भ्रम में
नींद में जागृत हो जाता हूँ,
अहसास प्यार का पाकर
मदहोश बिखर-सा जाता हूँ।

जब सुबह कहानी कहती है
गुज़रे रात के ख्वाबों की,
तब सलवटें मुझें खलती हैं
पसरे कोरे चादरों की।